Track Nation Next on Social Media

Nagpur News Business

CAMIT delegation meets Shiv Sena MP Sanjay Raut, discusses problems faced by business community

CAMIT delegation during its meeting with Shiv Sena MP Sanjay Raut

A delegation of Chamber of Associations of Maharashtra Industry and Trade (CAMIT) led by President Dr Dipen Agrawal recently met Shiv Sena MP Sanjay Raut during his two-day visit to Nagpur. The meeting happened in presence of MLC Dushyant Chaturvedi and Nagpur Shiv Sena Mahanagar Sanghatak Vishal Barbate.

Agrawal welcomed Raut with floral bouquet and submitted memorandums highlighting the three most problematic issues haunting business community: 1) exorbitant hike in rent by corporations and their coercive action, 2) harassment by local body tax department across the state under the garb of assessment and 3) action on MSME by NMRDA. Agrawal also pitched for setting-up Refinery and Petrochemical Complex (RPC) in Vidarbha.

Agrawal further requested Sanjay Raut to use his office to impress upon the state government to recommend to the union government, support and assure to give all necessary clearance in time bound manner for mega Refinery and Petrochemical Complex in and around Nagpur in Vidarbha region. Raut assured the delegation that he will discuss the issue with Chief Minister Uddhav Thackeray and do his best to take the proposal ahead.

Wahab Parekh and Sanjay Nabira from NMC Market Federation said that after persistent follow up and persuasion by CAMIT, state government recently stayed the operation of notification dated 13/09/2019 wherein municipal corporations were directed to collect 8% of market value as annual rent. Government also constituted a committee of government officers to review and fix rent afresh. Now it is being said that the said notification in question does not apply to the licensee Galedharak and that a lease holder is on better footing that that of a license holder.

Raut was informed that lease holder enjoys greater benefits than as compared to license-holder, as the former would be paying less rent (about 2%) whereas the latter enjoys lesser benefits as he would be paying higher rent (about 4% in Nagpur and about 8% in other corporations). They requested Raut to intervene and impress upon state government to notify that the licensee Galedharak are covered under the 13/09/2019 notification or alternatively notify similar rules for licensee Galedharak and tenants.

Shivpratap Singh (President, The Nagpur Itwari Kirana Merchant Association) said that the first notification declaring 5 km area touching outer limits of Nagpur Municipal Corporation (NMC) as Nagpur Metro Region was issued in 1999 and thereafter the Metro Region limit was increased to 10 km before notifying the present limit of 25 km from boundary of NMC. Nagpur Improvement Trust (NIT) was notified as Special Planning Authority for Nagpur Metro Region limits in 2010. NIT passed resolution for preparing development plan for Metro Region in 2012 and published Draft Development Plan (2012-2032) calling objection and suggestions, in 2015. In the meantime, state government established Nagpur Metropolitan Region Development Authority (NMRDA) in 2017. In 2018 Final Development Plan (2012-2032) for Nagpur Metro Region was sanctioned and notified.

Singh further submitted that after a sizeable survey of Nagpur Rural, it was learnt that majority of units i.e. 59% were established before 2012 NIT resolution and 85% of them were established before the first publication of 2015 Draft Development Plan (2012-2032). Hence, it is unjust on part of NMRDA to expect these units to maintain the margins prescribed in DCR (2012-32). Almost every unit following the then prevailing procedure obtained Non-Agriculture (NA) Order from concerned tehsildar and sanction for building plan from concerned gram panchayat. The units in good faith have taken these permissions from them and further submitted to other government agencies to process their applications. Singh requested Sanjay Raut to take-up the issue with government and impress upon them to notify that the MSME units established prior to 06/01/2018 (the date on which the DCR 2012-2032 for Nagpur Metropolitan Region was notified) should be saved from the provisions of the said DCR.

Ashok Sanghvi and Girish Liladia, said that practically Local Body Tax (LBT) was abolished from 31/07/2015 i.e., FY 2015-16. As per LBT Rules 2010, the last date for assessment for FY 2015-16 is 31/03/2021. LBT officers have indulged in 100% assessment of regular LBT cases, whereas LBT Rules provide for assessment only in certain contingencies only. It goes without saying that 100% assessment of regular LBT cases by department is nothing but a tool in the hands of officers to harass and extort the business community. They further informed that department is passing ex-party (best judgement) orders raising inflated & fictitious tax demands and using them to justify continuance of LBT Department. In some case’s back-dated assessment orders for previous years have been issued by department. Records from LBT Appellate Authority will evidence the correctness of our statement. They requested Sanjay Raut to take-up this issue with Government of Maharashtra to close LBT Department in all Municipal Corporations with immediate effect to ensure ease of doing business in the state.

Raut, after a patient hearing, assured to speak to Urban Development Minister Eknath Shinde and keep a meeting of stake holders with the minister. He also assured his presence in the said meeting to resolve the issues to work towards the satisfaction of the business community.

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Nagpur News

December 02, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur

Nation Next Nagpur Bulletin brings to you a summary of major news events that took place in Nagpur on December 02, 2022.

1. गुरुवार को शहर के सुपारी व्यापारियों के यहां ed की raid पड़ने की वजह से कई बातें सामने आयी है. शुक्रवार 30 दिसंबर को मिली जानकारी के अनुसार सुपारी व्यापारियों  के मामले में एक बड़ा ‘smuglling racket ‘ नागपूर में active होने की खबर के बाद ed ने नागपुर के बाद मुंबई में भी कार्रवाई की.नागपुर के सुपारी व्यापारियों के पास  से  cash , properties के documents और हवाला कारोबार से जुडी information भी ed को इसमें मिली है. इसको देखते हुए अब सुपारी व्यापारियों पर foreign exchange management एक्ट के तहत कार्रवाई की जा सकती है. बताया जा रहा है कि जो documents ed को इन लोगों से मिले है, इससे यह लोग अब gst और income tax department के राडार पर आ गए और इनपर इन दोनों department की भी कार्रवाई हो सकती है. जानकारी  यह भी निकलकर आयी है की जिन सुपारी व्यापारियों  के यहां raid हुई है उनको और उनसे related लोगों को भी मुंबई investigation के लिए बुलाया गया है.

2. नागपुर -मुंबई समृद्दि expressway के नागपुर -शिर्डी के 520 किलोमीटर के first फेज का उद्घाटन pm नरेंद्र मोदी के हाथों 11 दिसंबर को होनेवाला है. pm के दौरे की तारीख सामने आते ही security agencies और district administration alert हो गया है. security reasons को लेकर समृद्धि expressway का नागपुर का ‘entry point ‘ बंद कर दिया गया है. नागपुर के गुमगांव के खड़का से समृद्धि expressway की शुरुवात होती है. expressway पर कोई भी सीधे न आ पाए, इसके लिए टिन के पत्रे लगाए गए है. pm के आने के बाद यहां पर कार्यक्रम भी होगा, जिसके लिए 15 हजार लोग बैठ सके, ऐसे डोम की व्यवस्था की गई है.  इस  उद्घाटन कार्यक्रम की तैयारियां पुरे जोर -शोर से चल रही है.

3. RSS के headquarter और रेशमबाग के भट्ट सभागृह को उड़ाने की धमकी वाला पुलिस को एक लेटर पिछले हफ्ते मिला था, जिसके कारण पुलिस department में हलचल मच गई थी. इस letter को लेकर पुलिस ने investigation शुरू की ओर 1 दिसंबर को एक आरोपी को  हिरासत में लिया है. जानकारी के अनुसार यह व्यक्ति सरकारी कंपनी में इंजीनियर है. यह letter सक्करदरा पुलिस को मिला था. बताया जा रहा की आरोपी इंजीनियर की मेन्टल health ठीक नहीं है. Additional Police Commissioner Navinchandra Reddy ने इसपर कहा कि आरोपी नहीं चाहता था कि आनेवाला कार्यक्रम भट्ट सभागृह में हो, इसके लिए ही उसने सब किया है. आरोपी से पुलिस investigation कर रही है.

4. पहले महाराष्ट्र के governer , फिर भाजपा के national spokesperson ने छत्रपति शिवाजी महाराज पर विवादित बयान दिए, जिसके बाद काफी हंगामा हुआ. यह हंगामा अभी थमा ही नहीं था कि अब भाजपा के state minister मंगल प्रभात लोढ़ा ने भी छत्रपति शिवाजी महाराज को लेकर विवादित बयान दिया है. इस बयान को लेकर गुरुवार 1 दिसंबर को  नागपुर में छत्रपति शिवाजी महाराज के वंशज श्रीमंत डॉ. राजे मुधोजी भोंसले ने इस पूरे मामले में अपनी नाराजगी जताते हुए मुख्यमंत्री एकनाथ शिंदे को letter  लिखकर मंत्री मंगल प्रभात लोढ़ा का resignation लेने की मांग की है. डॉ.राजे मुधोजी ने अपने इस लेटर में लिखा है कि शिवाजी महाराज को लेकर पहले governer, फिर भाजपा के spokeperson के बाद अब minister मंगल प्रभात लोढ़ा ने विवादित बयान दिया है, इसके लिए minister से resignation लेकर यह message दे की राज्य की जनता महाराज का अपमान सहन नहीं करेगी. राजे भोसले ने कहा कि इसको लेकर वे राष्ट्रपति, प्रधानमंत्री और भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष को भी letter भेजेंगे. उन्होंने deputy cm फडणवीस से भी minister के resignation की मांग की है.

5. नागपुर में लगातार कचरे को लेकर कार्रवाई की जा रही है. nagpur muncipal corporation की nds की ओर से शहर में गन्दगी फैलानेवालों पर नजर रखी जा रही है. इसी के तहत गुरुवार 1 दिसंबर को सड़क के किनारें खाने का कचरा फेंकने पर बजाजनगर के श्री गणेश गार्डन lawn पर 50 हजार का fine लगाया गया और nds की टीम ने  owner से 50 हजार रुपए वसूल भी किए है. सभी लोगों पर अलग -अलग fine की कार्रवाई की जा रही है. जिसमें शहर में  कई ऐसे  Institutes थे, जिनपर 50 हजार रुपए का fine लगाया गया है.

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch: December 01, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Continue Reading

Nagpur News

December 01, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur

Nation Next Nagpur Bulletin brings to you a summary of major news events that took place in Nagpur on December 01, 2022.

1. गुरुवार 1 दिसंबर को सुबह ED के officers ने एक साथ शहर के 4 major सुपारीवालों के यहाँ raid  शुरू कर दी. जिन सुपारी व्यापारियों के यहां आज छापे पड़े है,उनमें प्रकाश गोयल,आसिफ कलीवाला, दिग्विजय ट्रांसपोर्ट के हिमांशु शामिल है.जानकारी के अनुसार यह सभी सुपारी व्यापारी विदेश से सुपारी का import करनेवाले है. इससे पहले भी यह लोग अलग-अलग various investigation agencies के निशाने पर आ चुके है. नागपूर पुलिस ने भी इनमें से कुछ सुपारी व्यापारियों पर सड़ी सुपारी को लेकर कार्रवाई की थी. जानकारी यह भी है कि कल शाम से ही ed के officers शहर में मौजूद थे. इस team में मुंबई के अलावा दूसरे शहरों के officers भी शामिल थे. सुबह ही सुपारी व्यापारियों के यहां raid पड़ने की खबर शहर में फ़ैल गई थी. इससे बाकी सुपारी व्यापारी भी alert हो गए है.

2. नागपुर शहर की central जेल में कुछ दिन पहले गांजा, सिगरेट, खर्रे जैसे नशीली चीजें  मिली थी. जिसके बाद यह बात काफी फ़ैल चुकी थी. यह चीजें कैदियों को कोई और नहीं बल्कि जेल के कर्मचारी ही दे रहे थे. गुरुवार 1 दिसंबर को अब एक investigation में एक नया racket सामने आया है, जो जेल के अंदर से फ़ोन से ऑपरेट हो रहा था. इस रैकेट की ओर से  नशीली वस्तुएं जेल के अंदर मंगवाई जा रही थी. इसमें जेल के guard  भी  शामिल मिले है. पुलिस ने इस मामले में 5 आरोपियों को गिरफ्तार किया है. जिसमें 2 jail guard भी शामिल है. इन आरोपियों में श्रीकांत थोरात, गोपाल पराते, राहुल मेंढेकर, अजिंक्य राठौड़ और प्रशांत राठौर शामिल है. इस मामले में शहर के cp अमितेश कुमार ने बताया कि अजिंक्य और प्रशांत दोनों jail guard  है, श्रीकांत, गोपाल और राहुल क्रिमिनल है. उन्हें करीब डेढ़ साल पहले mpda लगाकर जेल भेजा गया था.  यह सब सेटिंग करके जेल में गांजा और दूसरी चीजें मंगाते थे. इनका रेट भी फिक्स था. गांजे के लिए 5 हजार रुपए , खाने की चीजें लाने के लिए 2 से 3 हजार, तो वही कपडे और स्वेटर लाने के लिए हजार रुपए लिए जाते थे. cp अमितेश कुमार को मंगलवार को इस racket की टिप मिली थी. इसके बाद उन्होंने क्राइम ब्रांच और साइबर सेल की मदद से investigation शुरू की. जेल से एक सिमकार्ड ऑपरेट होने की जानकारी सामने आयी.पुलिस ने callers और व्हाट्सप्प की जांच की तो यह पूरा रैकेट सामने आया.   

3. नागपूर शहर में इन दिनों कई जगहों पर देर रात तक पार्टियां होती है, restaurents,बार रात तक खुले रहते है.  यहां पर dj और music programme भी किए जाते है. लेकिन अब ऐसे लोगों की खैर नहीं.    गुरुवार 1 दिसंबर को शहर के cp अमितेश कुमार ने देर रात तक पार्टियों का आयोजन करनेवालों के खिलाफ सख्ती से निपटने के instruction दिए है. उन्होंने जनवरी तक अलग -अलग जगहों के लिए कई rules लगाए है, इनका violation करनेवालों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करने के  instructions पुलिस officers को दिए है. यह restraining order 25 नवंबर 2022 से लेकर 23 जनवरी 2023  जनवरी तक लागू रहेगा. इस instruction के मुताबिक़ होटल, बार, restaurants, banquet hall, lawn, खुले मैदान और दूसरी जगहों पर music programme, dj पार्टी के लिए CP ऑफिस से permission लेनी जरुरी है. इसके साथ -साथ कई rules और भी लगाएं गए है.

4. बुधवार 31  नवंबर को लक्ष्मीभवन चौक के Cuba Hukka Parlour पर क्राइम ब्रांच की unit -2 की टीम ने raid मारकर owner समेत दो लोगों के खिलाफ बर्डी पुलिस स्टेशन में मामला दर्ज किया है. जानकारी के अनुसार लक्ष्मीभवन चौक के गोतमारे मार्केट नाम की बिल्डिंग के दूसरे floor पर Cuba Cafe नाम से यह हुक्का parlour चल रहा था. देर रात तक चलनेवाले इस पार्लर की गुप्त जानकारी मिलने के बाद क्राइम ब्रांच की टीम ने raid मारी तो parlour owner प्रफुल चौधरी और उसका मैनेजर अविनाश नाईक ग्राहकों को हुक्का पिलाते हुए पकडे गए.  पार्लर में अचानक हुई इस raid के कारण यहां बैठे customers में हड़कंप मच गया. इस पार्लर से tobacco के पैकेट, 5 हुक्का pot, 9 चिलम जब्त किए गए है.

5. बुधवार 31 नवंबर को शहर के एक कबाड़ीवाले की दूकान में भाजप के former MLA के Awards और  Honors मिलने के कारण यह बात शहर में फ़ैल गई. यह awards कई संस्थाओ की ओर से दिए MLA को दिए  गए थे. यह सभी awards former MLA अनिल सोले के थे. इसके बाद जब यह खबर फैली तो इसकी जानकारी सोले के ऑफिस में भी पहुंची, जानकारी मिलते ही  उनके pa काचीपुरा के कबाड़ीवाले के पास पहुंचे और उससे सभी सामान वापस लिया. सोले के मुताबिक़ उनके ऑफिस को दूसरी जगह शिफ्ट किया जा रहा है. जिसके कारण यह अवार्ड्स और सामान एक बोरे में भरकर रखे थे. कर्मचारियों को रद्दी बेचने के लिए कहां था. लेकिन उसने रद्दी समझकर उसने यह बोरा भी यहां लाया होगा. हम नए ऑफिस में awards रखने के लिए यह बोरा ढूंढ रहे थे. इतने में यह awards रद्दी वाले के पास मिलने की information मिली.उसके पास पहुंचकर हमने सभी  awards वापस लिए है.  बुधवार को दिनभर शहर के politics से जुड़े लोगों  में यही चर्चा चल रही थी.

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch: November 30, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Continue Reading

Nagpur News

November 30, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur

Nation Next Nagpur Bulletin brings to you a summary of major news events that took place in Nagpur on November 30, 2022.

1. मुंबई में हुई cabinet की meeting में प्रधानमंत्री आवास योजना के beneficiaries को सिर्फ 1 हजार रुपए में रजिस्ट्री करने का decision लिया गया है. नागपूर के mla कृष्णा खोपड़े ने यह मांग की थी.mla खोपड़े के मुताबिक़ कुछ दिन पहले प्रधानमंत्री आवास योजना के beneficiaries ने उनसे मुलाक़ात की थी और 1 हजार रुपए में रजिस्ट्री कराने की व्यवस्था करने की मांग की थी. इसके बाद खोपड़े ने 6 september 2022 को Revenue Minister राधाकृष्ण विखे पाटिल को letter लिखा और बाद में 11 नवंबर को deputy cm फडणवीस को letter दिया. इस दौरान letter में यह कहां गया कि जैसे झोपड़पट्टी के लोगों को फ्री में रजिस्ट्री की व्यवस्था की गई है, उसी तरह प्रधानमंत्री आवास योजना के beneficiaries को हजार रुपए में रजिस्ट्री करने की व्यवस्था की जाए. इस मांग को state government ने मान लिया है.

2. आपने नागपुर शहर में देखा होगा की कुछ महीने पहले बनी सीमेंट roads को नल के पाइपलाइन और गटर line के काम के लिए तोड़ा जा रहा है. इसके विरोध में बुधवार 30 नवंबर को युवक कांग्रेस ने प्रोटेस्ट किया. ‘ घंटा बजाओ, नागपुरवासियों का टैक्स बचाओ ‘ के नाम से यह प्रोटेस्ट किया गया. बंटी शेलके के lead में इस प्रोटेस्ट में नागपुर Municipal Commissioner राधाकृष्णन बी, cm एकनाथ शिंदे और Deputy CM फडणवीस के मास्क पहनकर प्रोटेस्ट किया गया.

3. नागपुर के गिट्टीखदान पुलिस स्टेशन के तहत आनेवाले बोरगांव दिनशॉ फैक्ट्री के सामने वाली बस्ती में 3 महिलाओ के साथ मारपीट का video वायरल हो रहा है. यह घटना शुक्रवार 25 नवंबर की है. इस मामले में आम आदमी पार्टी के लोगों ने पुलिस स्टेशन पहुंचकर आरोपियों पर सख्त कार्रवाई करने की मांग की है. आम आदमी पार्टी कार्यकर्ताओ के मुताबिक़ पुलिस ने अब तक किसी पर भी कोई concrete कार्रवाई नहीं की है. जबकि अलका उईके नाम की महिला के साथ बहोत ज्यादा मारपीट आरोपी चंदन सडमाके ने की है. जानकारी के मुताबिक़ जिनके साथ मारपीट हुई है वो 3 महिलाएं जब गिट्टीखदान पुलिस स्टेशन पहुंची तो सिर्फ एक महिला की complaint ली गई. इस मामले में 354 के तहत अपराध दर्ज होता है, लेकिन पुलिस महिला से कह रही है कि हमने उसको समझा दिया है, अब वो कुछ नहीं करेगा. video में देख सकते है कि एक आदमी महिला के साथ किस तरह से मारपीट कर रहा है. जानकारी के अनुसार इसमें पुलिस ने सिर्फ nc मामला दर्ज किया है. देखने में आया है की शहर पुलिस की इसी लापरवाही के चलते कई बड़े -बड़े हादसे बाद में होते है. समय रहते पुलिस किसी भी मामले में सख्त कार्रवाई करे, तो सामने होनेवाले serious crime को रोका जा सकता है.

4. नागपुर के सदर में Bishop Cotton स्कूल में बुधवार को स्कूल के खिलाफ parents ने नाराजगी जाहिर की . बुधवार 30 नवंबर को सुबह ही parents स्कूल के सामने जमा हो गए. parents ने स्कूल की headmistress शुभदा टिमोथी के खिलाफ नाराजगी की है और parents का यह कहना है कि इनकी appointment ही illegal तरीके से हुई है .कुछ दिन पहले parents ने स्कूल की headmistress के खिलाफ नागपुर के Education Officer को भी written complaint दी है. parents का कहना है कि स्कूल headmistress का बर्ताव parents और management के साथ बिलकुल भी अच्छा नहीं है. parents के साथ उन्होंने कई बार arrogantly बात की है. parents ने यह मांग की है कि स्कूल की CBSE की principal maudlin तिवसकर को nursery से लेकर 12th तक का स्कूल का पूरा चार्ज दिया जाए. parents का कहना है की headmistress टिमोथी के कारण उनके बच्चों की study का नुक्सान हो रहा है. आज parents ने school के management से बात की और उन्हें अपनी problems बताई.

5.  29 नवंबर को नागपूर के मेडीकल कॉलेज में ragging का एक मामला सामने आया है. जिसमें 6 students के खिलाफ कार्रवाई करके उनकी Internship cancel की गई है. इसके साथ ही इन students के खिलाफ पुलिस में complaint दर्ज की गई है. जानकारी के अनुसार mbbs के first year students के साथ ragging का video सामने आने के बाद कॉलेज में सनसनी मच गई थी. इसके बाद central ragging commitie ने इस मामले में मेडीकल कॉलेज को complaint करते ही यह कार्रवाई की गई. दरअसल मेडीकल administration को central ragging commitie की ओर से एक video mail किया गया था., जिसमे 6 intern students mbbs के एक first year student की ragging कर रहे थे. इस वीडियो के मिलने के बाद मेडीकल administration ने तुरंत एक meeting ली और investigation के order दिए. investigation में पता चला कि video सही है. इन students को hostel से भी बाहर कर दिया गया है. कल रात तक यह कार्रवाई जारी थी.

6. रेलवे पार्सल department की ओर से सामान इस शहर से दूसरे शहर भेजा जाता है. कई बार रेलवे कर्मचारी और मजदुर इसमें काफी लापरवाही करते है, कई लोगों के महंगे -महंगे सामान भी रेलवे मजदूरों के उठाने और रखने से टूट जाते है. लेकिन रेलवे department इन गैरजिम्मेदार मजदूरों और रेलवे कर्मचारियों पर किसी भी तरह की कोई कार्रवाई नहीं करता है. ऐसा ही एक मामला मंगलवार 29 नवंबर को सामने आया है. दरअसल एक व्यक्ति ने नागपूर से अपने बेटे के लिए moped लातूर के लिए भेजी थी , लेकिन इसको लातूर में न उतारते हुए इसको कोल्हापुर में उतारा गया. जिसके कारण इस व्यक्ति को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. जानकारी के मुताबिक़ गणेशपेठ में रहनेवाले m. अग्रवाल ने एक moped 24 नवंबर को नागपुर के पार्सल department से महाराष्ट्र एक्सप्रेस में लातूर भेजी थी, उनका बेटा वहां पढ़ाई कर रहा है. लेकिन लातूर पहुंचने के बाद इसको लातूर में नहीं उतारा गया. जब मोपेड नहीं मिली तो बेटे ने अपने पिता को फ़ोन पर जानकारी दी.इसके बाद अग्रवाल ने जब पता किया तो उन्हें पता चला की मोपेड कोल्हापुर पहुंच गई है. रेलवे ने अग्रवाल को यह जानकारी दी की लातूर में ट्रेन से नीचे मोपेड उतारनेवाला कोई नहीं था. इसके बाद यह भी कहां गया कि अगर फिर से लातूर में कोई मोपेड उतारनेवाला नहीं मिला तो मोपेड वापस आएगी. अग्रवाल ने strict होकर गाडी उतारने को कहा, उन्होंने railway helpline पर complaint भी की, इसके बाद मोपेड को लातूर में उतारा गया. रेलवे के पार्सल department की लापरवाही के कारण कई लोगों को रोजाना ही mentally और physically harrass होना पड़ता है. कई मामले सामने आते है तो कई मामले सामने ही नहीं आते है.

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch: November 28, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Continue Reading
Advertisement
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x