Track Nation Next on Social Media

Nagpur News Education

LAD College conducts IRICH workshop on carbon footprint, climate change

Interdisciplinary Research Ideation and Collaboration Hub (IRICH), the latest initiative from the Women’s Education Society (WES), recently held a six-day intense workshop ‘Research Ideation and Exploration (RIEW)’ for selected students from the various post graduate courses conducted in its institutions.

Dr Kamal Singh, former vice-chancellor of SDG Amravati University was the chief guest at the valedictory function. Delivering her valedictory address, she spoke on ‘Ethics in Research’ and urged the students to adopt a strong value system while conducting research.

Around 39 students from the 10 post graduate departments of LAD and Smt RP College for women and the Smt Manoramabai Mundle College of Architecture (SMMCA) participated in the workshop.

The focus was to explore areas of interdisciplinary in research and the participants worked in heterogeneous groups to identify areas of the same. They were introduced to concepts of Sustainability and Sustainable Development Goals, Climate change, Carbon Footprint, Traditional knowledge systems, Mechanics of interdisciplinary research and Cognition in research.

Dr Kamal Singh presented the certificates and membership cards of IRICH were issued to the participants.

The workshop was held under the patronage of advocate Sunil Manohar President WES, Dr Avinash Deshmukh Vice-President WES, Dr Shyamala Nair Secretary WES, Dr Nanda Rathi Jt Secretary WES, Dr Harsha Jharia Chief Administrative Officer WES and mentors from all the departments. The function was conducted by Dr Roopal Deshpande, Coordinator IRICH.

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Nagpur News

Rotary Club of Nagpur provides tools and gadgets to support blind, partially blind people

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur

Rotary Club of Nagpur North showed support to blind and partially blind people at Atmadeepam Society. They provided multiple gadgets and tools to help the differently abled.

These gadgets and tools will help the blind and partially blind to receive professional training for mainstream jobs. The aim of these training workshops is to give equal opportunities to differently abled people.

The project was done in the presence of President Jyotika Kapoor, Secretary projects Aliakbbar Maimun, and Treasurer Harleen Oberoi.

Also Read: Nagpur Mahila Club organises ‘Umang Ke Rang’ talent show for differently abled, under-privileged

Continue Reading

Nagpur News

Nagpur Mahila Club organises ‘Umang Ke Rang’ talent show for differently abled, under-privileged

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur
'Umang Ke Rang' a unique talent show was organised by Ashrita Mahila Mandal (Nagpur Mahila Club)

Ashrita Mahila Mandal (Nagpur Mahila Club)

‘Umang Ke Rang’ a unique talent show was organised by Ashrita Mahila Mandal (Nagpur Mahila Club). An organisation working for the empowerment of Women and Children for last 20 years. The show was held on 26th November at Niyogi Hall, LAD College, Shankar Nagar .

The motto of this event was to increase social inclusion of people with disabilities. They did so by bringing to stage various forms of cultural expressions performed by people with disabilities. To increase personal confidence and empower people with disabilities.

Around 140 specially abled, including intellectually challenged from SVK Shikshan Sanstha and other organizations,
visually challenged from different blind schools, Deaf & Dumb school from Saoner, physically challenged enthralled audience with their performances like fashion show, solo and group dances, solo and group singing, and played musical instruments.

This event was organised in association with University Women’s Association Nagpur (UWAN), LAD College, CRC Nagpur and Federation of Special Care Dentistry. President Aashrita Mahila Mandal, Vilasini Nair rendered a welcome note while Dr Harsha Jharia, CAO LAD College, and Dr Pathak, President of UWAN were prominently present. Chief guest Dr Urmila Kshirsagar, Director Niramay Bahu Uddeshiya Sanstha, Nagpur, enlightened the audience with her valuable words.

Guest of honour, Mr Jaisingh K Chouhan, Director, Ranjana Group of Industries Pvt Ltd shared his life experiences as a successful Divyang and motivated the participants. Mrs Gayathri Vatsalya, President, SVK Shikshan Sanstha and Dr Dini Menon, Secretary, and team Ashrita Mahila Mandal successfully co-ordinated the programme.

Oral care kits were distributed by Federation of Special Care Dentistry ( FSCD)

All the participants were presented with gifts, certificates and snack boxes.
Vote of thanks was proposed by Isha Verma and Anita Kaul Bose, Vice President, Aashrita Mahila Mandal.
Parents, teachers and general public attended the event in large numbers and applauded the participants.

Also Read: I’m known for small and mid-budget films, so I can never enter 300 crore club: Ayushmann Khurrana

Continue Reading

Nagpur News

November 26, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Published

on

By

Avani Arya | Reporter : Shamanand Tayde | Nagpur

Nation Next Nagpur Bulletin brings to you a summary of major news events that took place in Nagpur on November 26, 2022.

1. मंगलवार 22 नवंबर को कामठी के पास  महसाला में Marie Poussepin  Academy  स्कूल के सामने ही  स्कूल के बस driver अंबादास रामटेके ने लापरवाही से बस चलाते हुए 8th क्लास में पढ़नेवाले student सम्यक  कलंबे को कुचल दिया था. जिसमे उसकी दर्दनाक मौत हो गई थी ,तो वही उसका भाई इसमें घायल हो गया था. इस accident के बाद  Marie Poussepin  Academy  स्कूल पर भी लापरवाही के आरोप लग रहे है. सम्यक के मामा कैलाश वाहने जो की मानकापुर में रहते है, उन्होंने ‘ Nation Next ‘ को जानकारी देते हुए बताया की स्कूल buses और दूसरी गाड़ियों के लिए बिलकुल पार्किंग की व्यवस्था नहीं है, सभी गाड़ियां सड़क पर खड़ी रहती है.उन्होंने बताया की कई सालों से स्कूल के सामने की सड़क खराब है, जिसके कारण गाड़ियों  से स्कूल पहुंचने पर काफी Problems होती है. इसके बाद Marie Poussepin  Academy  school की उन्होंने सबसे बड़ी लापरवाही यह बताई कि स्कूल में कोई भी security guard नहीं है. gate पर खड़े रहनेवाला सिर्फ एक watchmen है. जबकि स्कूल में 2 हजार के करीब students है. बच्चे के मामा के मुताबिक़ अगर school में school की छुट्टी होने के बाद school vans को और बच्चों को संभालनेवाले security guards होते तो शायद यह accident को रोका जा सकता था. उनका कहना है  कि स्कूल के खिलाफ सभी students के parents में काफी गुस्सा है.  कैलाश का यह भी कहना है कि स्कूल principal से हमने system improve करने के लिए कहां तांकि ऐसा हादसा दोबारा न हो. लेकिन उन्होंने इसको लेकर किसी भी तरह का कोई positive response नहीं दिया. इस हादसे में जब accident में pole गिरा था तो उनके दूसरे भांजे को भी मार लगा था और उसे करंट भी लगा था. शनिवार को स्कूल के खिलाफ  guardians के protest करने की जानकारी भी मिली है.

2. नागपूर शहर में गुरुवार 24 नवंबर को एक मर्डर की घटना हुई है. जिसमें आरोपी ने दिनदहाड़े अपने ही साथी को चाक़ू से कई बार वार करके उसका मर्डर कर दिया. दिनदहाड़े गड्डीगोदाम चौक में हुए इस murder के कारण वहां के लोगों में डर का माहौल है. हालांकि कुछ ही देर में पुलिस ने आरोपी को  थोड़ी ही दूर रेलवे की पटरी के पास से गिरफ्तार कर लिया. आरोपी का नाम सत्येंद्र यादव है और मरने वाले उसके ही साथी का नाम  प्रणय राजेश पात्रे है. पुलिस की जानकारी के मुताबिक़  आरोपी सत्येंद्र और मरनेवाला प्रणय  friends थे. प्रणय  कबाड़ी का काम करता था और आरोपी दूध बेचने का काम करता है. दोनों पर criminal cases दर्ज है. गुरुवार सुबह 11 बजे के करीबप्रणय   शराब के नशे में था और उसने सत्येंद्र को गड्डीगोदाम के saint michael school के पास बुलाया. इसके बाद दोनों फिर शराब पीने निकल गए. इसके बाद दोनों फिर गड्डीगोदाम चौक पहुंचे.इस दौरान प्रणय ने सत्येंद्र की बहन के बारे में कुछ गलत बातें कही और उसको गाली दी. इससे गुस्साएं आरोपी सत्येंद्र ने उसके पास रखे हुए चाक़ू से प्रणय  के पेट में वार किया. इसके बाद गले पर वार किया, इससे प्रणय  काफी injured हो गया, सत्येंद्र यही नहीं रुका, उसने उसके पैर पकडे और उसे घसीटकर ले गया और उसको मारने लगा, इससे प्रणय की मौत हो गई. इस murder के समय  वहां पर काफी public थी.  पुलिस को इस murder की जानकारी मिलते ही पुलिस वहां पहुंची, पुलिस को पता चला की आरोपी गड्डीगोदाम के सामने ही गुरुद्वारा की तरफ गया है. पुलिस ने वहां पहुंचकर कर आरोपी को गिरफतार कर लिया.

3. 24 नवंबर गुरुवार को नागपूर के aims हॉस्पिटल में एक ragging का मामला सामने  आया है. जिसमें जानकारी यह है कि 7 students को 6 महीने के लिए suspend किया गया है. जानकारी के मुताबिक़ इन students ने  रात में अपने रूम में first year के students को बुलाया था. इसके बाद इनका  झगड़ा हो गया था. इस पुरे मामले के बाद dean ने इन्हें suspend किया है . इस मामले में aims की director डॉ. विभा दत्ता ने कहा कि institute में discipline के साथ rules का पालन होना चाहिए. students को डॉक्टर बनने के साथ -साथ एक अच्छा इंसान बनाना भी जिम्मेदारी है. इस मामले की investigation के लिए committe भी बनाई गई है. याद रहे की  डॉ. पायल तड़वी ने seniors से परेशान होकर 2019 में suicide किया था, यह मामला पूरे राज्य में उस समय गूंजा था, इस मामले में 3 lady doctors jail भी गई थी. ragging जैसे मामले education sector में न हो, इसके लिए सख्त कार्रवाई करने की जरुरत है.

4. शहर के doctor के साथ -साथ कई बड़े लोगों के साथ करोडो रुपए का fraud  करनेवाले अजित पारसे से अब पूछताछ हो सकती है. अब तक पारसे बीमार होने के कारण बिमारी से बचता रहा. नागपूर के police commissioner अमितेश कुमार ने बताया की पारसे का इलाज करनेवाले doctors ने पूछताछ करने के लिए उसे  fit बताया है. कुछ हफ्ते पहले ही पारसे के खिलाफ और एक complaint की गई थी. याद रहे कि पारसे शहर में social media expert के नाम से जाना जाता था. पारसे का भांडाफोड़ तब हुआ जब doctor राजेश मुरकुटे ने उसके खिलाफ complaint दर्ज की थी, उसके बाद उसके राज खुलते गए. जानकारी के अनुसार पुलिस ने उसको अब तक गिरफ्तार नहीं करने की वजह से भी शहर में चर्चाएं हो रही थी. पारसे  पिछले डेढ़ महीने से हॉस्पिटल में इलाज करा रहा है. अब जानकारी यह है कि उसकी physical रिपोर्ट पुलिस को मिल चुकी है और ऐसे में अब उससे पूछताछ हो सकती है.

5. शहर में कचरा फेकने को लेकर आम लोग ही नहीं बड़े -बड़े hospital भी लापरवाही कर रहे है. नागपूर nmc की nds की टीम लगातार इनपर कार्रवाई भी कर रही है. ऐसा ही एक मामला गुरुवार 24 नवंबर को सीताबर्डी में सामने आया है. यहां के platina hospital पर 50 हजार रुपए का fine लगाया गया है. दरअसल hospital की ओर से medical waste को normal कचरे में फेंका गया था. इसलिए यह कार्रवाई की गई है. hospital से निकलने वाले bandages, injections, दवाईयों के  wrappers, dripping pipes, दवा की बोतल जैसा हॉस्पिटल से बाहर फेंका जाने वाला हर सामान मेडिकल वेस्ट होता है. यह काफी खतरनाक होता है. इसमें लापरवाही करने से दुसरो को भी infection हो सकता है. खासकर कचरा फेंकनेवाले NMC कर्मचारियों को.

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch: November 25, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Continue Reading
Advertisement
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x