Track Nation Next on Social Media

Business

Nagpur-born ‘Steel Man of India’ Jamshed Irani passes away at 86

Jamshed Jiji Irani

Jamshed J Irani, often known as the ‘Steel Man of India,’ passed away on Monday at the age of 86 at Jamshedpur’s Tata Main Hospital.

Irani spent over 40 years working for Tata Steel. He exited from the Tata Steel board in June 2011, leaving a legacy of 43 years that brought him and the company recognition on a global scale in a number of industries.

Tata Steel shared the news of Irani’d demise through Twitter that read, “We are deeply saddened at the demise of Padma Bhushan Dr Jamshed J Irani, fondly known as the Steel Man of India. Tata Steel family offers its deepest condolences to his family and loved ones.”

Irani was born on June 2, 1936, to Jiji and Khorshed Irani in Nagpur, Maharashtra.

In 1956, he earned his BSc from Science College in Nagpur, and in 1958, he graduated from Nagpur University with his MSc in Geology.

As a JN Tata scholar, Irani then travelled to the University of Sheffield in the UK, where he earned a Master’s in Metallurgy in 1960 and  a PhD in Metallurgy in 1963.

In Sheffield, he began his professional career in 1963 with the British Iron and Steel Research Association.

But he had always hoped to advance India’s industrial development.

In 1968, Irani moved back to India and joined Tata Iron & Steel Company as an assistant to the director in charge of research and development.

Irani eventually rose to the position of general supervisor for the business in 1978. He received a promotion as General Manager in 1979 and in 1985 he was appointed President of Tata Steel.

Before retiring in 2011, he became Tata Steel’s joint managing director in 1988 and as a managing director in 1992.

He joined the Tata Steel Board in 1981 and served as a non-executive director for 10 years beginning in 2001.

Irani served as a director for a number of Tata Group firms, including Tata Motors and Tata Teleservices, in addition to Tata Steel and Tata Sons.

He served as the board of governors’ chairman for the Indian Institute of Management in Lucknow. In honour of their father, he and his sister Diana Hormusjee established the ‘Jiji Irani Challenge Cup,’ a cricket competition run by the Zorostrian Club of Secunderabad.

He received an honorary knighthood from Queen Elizabeth II in 1997 after being named an International Fellow of the Royal Academy of Engineering in 1996.

Later in 2007, he was awarded the Padma Bhushan by the Indian government.

CEO and MD, Tata Steel, TV Narendran said, “Dr Irani transformed Tata Steel in the nineties and made us one of the lowest cost steel producers in the World . He helped build a strong foundation on which we grew in the subsequent decades. He was one of the pioneers of the TQM movement in the country. He led with courage and conviction and was a role model and mentor for many in Tata Steel then and now. The employees of Tata Steel past and present are indebted to his leadership during turbulent times.”

Also Read: Fadnavis announces set up of 297-acre Electronics Manufacturing Cluster at Ranjangaon

Continue Reading
Click to comment
Subscribe
Notify of
guest
0 Comments
Inline Feedbacks
View all comments

Nagpur News

December 05, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Published

on

By

Avani Arya | Reporter : Shamanand Tayde | Nagpur

Nation Next Nagpur Bulletin brings to you a summary of major news events that took place in Nagpur on December 05, 2022.

1. राज्य  के cm एकनाथ शिंदे और deputy cm ने समृद्धि expressway में test drive किया. दोनों ने एक ही गाडी में  नागपुर से लेकर शिरडी तक का सफर तय किया. देवेंद्र फडणवीस ने यह गाडी चलाई. इस दौरान इनके साथ ही इस luxury कार के फोटो भी social media पर वायरल हुए , ऐसे में जिस कार में इन्होने सफर किया, वो government की नहीं, वो किसी और  की luxury कार थी, अब ऐसे में सभी तरफ चर्चा थी  कि आखिर यह luxury  कार किसकी है. सोमवार 5 दिसंबर को कांग्रेस पार्टी ने इस  कार को लेकर भाजपा पर निशाना साधा है, जिसे फडणवीस चला रहे थे. यह luxury कार नागपुर के famous builder और भाजपा नेता  कुकरेजा infrastruture के नाम से registered है. कुकरेजा infrastructure फडणवीस के काफी करीबी रहे भाजपा के नेता और बिल्डर विक्की कुकरेजा की कम्पनी है. इसी को लेकर काँग्रेस ने अपने tweet में लिखा  है ” cm dcm बिल्डर की गाडी चला रहे है, तो क्या अब  बिल्डर को ही राज्य चलाने के लिए दे दिया जाएगा” . इस tweet काफी वायरल हो रहा है. अब देखना होगा कि कांग्रेस के इस सवाल का भाजपा क्या जवाब देती है.

2. 11 दिसंबर को pm नरेंद्र मोदी Samruddhi expressway के और metro रीच 2 और 3 के उदघाटन के लिए नागपुर आ रहे है. ऐसे में अब जानकारी सामने आयी है कि उनके कार्यकम की जगह बदल दी गई है. अब यह programme समृद्धि expressway पर न होकर मिहान के AIIMS के area में किया जाएगा,  जानकारी ये भी सामने आ रही है कि pm मोदी समृद्धि expressway को देखने जाएंगे और वो इस expressway पर test ड्राइव भी ले सकते है. इसके बाद वे aiims के programme में शामिल होंगे. इसके लिए district administration की तैयारियां भी चल रही है.

3. Karnataka और महाराष्ट्र  के border पर  बसे गांवो का dispute कई सालों के बाद एक बार फिर सामने आया है. Karnataka के cm ने पीछे दिनों दिए बयान के बाद से ही शिवसेना, कांग्रेस और राष्ट्रवादी कांग्रेस ने नाराजगी जाहिर की थी. इसी को लेकर रविवार 4 दिसंबर  को उद्धव ठाकरे की शिवसेना के कार्यकर्ताओ ने airport पर लगे Karnataka tourism के banner फाड़ दिए. इस दौरान Karnataka मुर्दाबाद के नारे में कार्यकर्ताओ की ओर से लगाए गए.

4. रविवार 4 दिसंबर को नागपुर के कुन्दनलाल गुप्ता नगर से विनोबा भावे नगर के बीच एक महिला और उसके छोटे बच्चे पर two wheeler पर आयी दो महिलाओ ने acid फेक दिया और फरार हो गई. इस घटना के बाद area में हड़कंप मच गया. दोनों आरोपी महिलाएं चेहरा ढककर थी. पूरी जानकारी के अनुसार पीड़ित महिला का नाम लता वर्मा है और उनके बेटे का नाम वंश है जो 2 साल का है. यह लोग विनोबा भावे नगर में रहते है. इनके husband ड्राइवर है. रविवार की सुबह लता को किसी अनजान महिला ने फ़ोन किया और बताया कि तुम्हारे husband के illegal relationship के बारे में जानकारी देनी है. इसके लिए तुम कुन्दनलाल गुप्ता नगर में आओ. इनकी बातें सुनकर  लता अपने बच्चे को लेकर उनसे मिलने गई.  इसके बाद लता से मिलने दो महिलाएं चेहरा ढखकर आयी और लता से विवाद करने लगी, तभी मौका देखकर उन दोनों ने लता और वंश पर acid फेक दिया और दोनों फरार हो हो गई. इस घटना में लता का थोड़ा बहोत हाथ जल गया है और उनके बच्चे को आंखो के पास थोड़ा injury हुई है. यह घटना जब लोगों ने देखी तब  दोनों को मेडीकल हॉस्पिटल लेकर जाया गया. आरोपियों को पकड़ने के लिए पुलिस इस मामले में area के cctv footege चेक कर रही है.

5. हिंगना के GH Raisoni Institute of Engineering and Technology के student ने कॉलेज की बिल्डिंग से कूदकर suicide कर लिया. जानकारी के मुताबिक़ student का नाम योगेश चौधरी था और वह भुसावल के श्रीरामनगर का रहनेवाला था. योगेश GH Raisoni Institute of Engineering and Technology में  Polytechnic के CO Branch में पढ़ रहा था. योगेश ने 11th और 12th commerce में करने के बाद law में admission के लिए तैयारी की थी. 2 साल होने के बावजूद भी उसको लॉ में admission में succes नहीं मिली.   इन सभी के बीच आखिर में उसने Polytechnic में admission लिया.उसकी क्लास में सभी 16 साल के थे और वो 20 साल का था. इसके कारण उसे हमेशा लगता था कि उसके 4 साल बर्बाद हो गए. 4 दिन पहले योगेश ने अपने रूम partner से  suicide करने की बात कही थी. उसने कहां था की मेरे 4 साल खराब हुए है, इसलिए बिल्डिंग से कूदकर suicide करने की इच्छा होती है.लेकिन रूम पार्टनर को उसका ऐसा बोलना normal लगा, इसलिए उसने इस बात को ज्यादा seriously नहीं लिया. लेकिन योगेश ने आखिरकार depression में आकर suicide कर लिया.

6. नागपुर एयरपोर्ट पर रविवार 4 दिसंबर को नागपुर की सोनेगांव पुलिस की मदद से बाबुलगाव की क्राइम ब्रांच की टीम ने गुटका किंग कहे जानेवाले विक्रम मंगलानी को एयरपोर्ट से  arrest किया है. आरोपी विदेश भागने की तैयारी में था. विक्रम के साथी एहफाज मेमन को बाभुलगाव पुलिस ने लाखों रुपए के गुटखे के साथ गिरफ्तार किया था, तभी आरोपी विक्रम अपना घर छोड़कर नागपुर के सोनेगांव में छुप कर रह रहा था. मौका मिलते ही वह एयरपोर्ट पहुंचा, जहां उसे पुलिस ने arrest किया. अमरावती का पान मसाला व्यापारी है आरोपी विक्रम मंगलानी. मेमन को काफी सारे माल के साथ गिरफ्तार करने के बाद उसने बताया था कि वो विक्रम से माल खरीदता था. अमरावती से फरार होने के बाद पुलिस उसकी तलाश कर रही थी और अब वो पुलिस के हाथ लगा है. 

7. Sarathi Trust aur The Humsafar Trust की ओर से विदर्भ का पहला lGBTQI + Community integrated hiv clinic की शुरुवात सोमवार 5 दिसंबर को नागपुर के मोहननगर में की गई.इसको sony pictures networks india की ओर से support किया जा रहा है. इस क्लिनिक  होने से इसका फायदा hiv से पीड़ित लोगों को होगा.

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch:  December 03, 2022 | Nagpur News | नागपुर समाचार | Hindi News Bulletin | Nation Next

Continue Reading

Remembrance

The BR Ambedkar you didn’t know… | BR Ambedkar facts | BR Ambedkar history

Published

on

By

Suyash Sethiya | Nagpur

Mahaparinirvan Din 2022 is marked as the death anniversary of Dr Bhimrao Ambedkar on December 6. He eradicated untouchability and promoted gender equality in India. Watch to know more about him.

6 दिसंबर 1956 में डॉ. बाबासाहेब आंबेडकर का परिनिर्वाण हुआ था. आज मुंबई के चैत्यभूमि जहां उनका परिनिर्वाण place है वहां पर पूरे india से उनके दर्शन और उनको श्रद्धांजलि देने के लिए हजारों की तादाद में उनके followers पहुंचते है. 14 October 1956 को नागपुर के दीक्षाभूमि में लाखों लोगों को बौद्ध धम्म की दीक्षा देने के डेढ़ महीने बाद ही उनका परिनिर्वाण हुआ था. आज हम बाबासाहेब के उन rights की बात करेंगे, जो women को दिए गए है.

बाबासाहेब ने India में ऐसा revolution किया, जिसके कारण सैकड़ों सालों की ग़ुलामी और छुआछूत से backward classes के लोगों को मुक्ति मिली. बाबासाहेब के इस revolution को इतिहास में सबसे बड़े revolution में से एक माना जाता है. उन्होंने सभी के लिए equality की बात कही और सभी को समान rights constitution में दिए. बाबासाहेब ने women empowerment की बात सबसे पहले कही थी.महिलाओं को कानूनी रूप से अधिकार दिलाने और खासकर ancestral property में हिस्सा देने की बात बाबा साहेब आंबेडकर ने ही की थी.

बाबा साहब ने Constitution में तीन major बातें liberty, equality और fraternity की बात की, जिसमें उन्होंने fraternity को सबसे अहम माना. बाबा साहब भारत की तमाम महिलाओं के liberator
हैं. लेकिन अफसोस इस बात का है कि आंबेडकर को कई classes की महिलाएं ही अपना नहीं मानती हैं. बाबासाहेब ने अपने life में सभी articles के माध्यम से womens की problems को पुरज़ोर तरीके से उठाया था .Riddle of Women, women and counter-revolution, rise and fall of Hindu woman ऐसे कई articles बाबासाहेब ने समय–समय पर लिखे थे. हिन्दू कोड बिल की मांग को महिलाएं कैसे भूल सकती हैं, जिसके ना लागू होने के कारण बाबा साहब अपने मंत्री पद तक को छोड़ देते हैं. बाबासाहेब कहते हैं “मैं किसी भी समाज की तरक्की उस समाज की महिलाओ की तरक्की में देखता हुं.“ जिस समय india में लड़कियों को पढ़ाना भी गलत समझा जाता था और बेटों को ही पढ़ाया जाता था, उस समय कई बड़े -बड़े नेता भी लड़कियों को education और property देने के विरोध में थे. उस दौरान बाबासाहेब लड़कियों को बेटों की तरह ही पढ़ाने और कम उम्र में लड़कियों की शादी न करने की बात अपने articles में कहते थे. बाबासाहेब ने sc,st , obc सभी को अधिकार दिए, freedom of speech उन्हीं की देन है.

नागपुर और मुंबई से उनके followers का ख़ास रिश्ता रहा है और दोनों ही जगहों से लोग emotionally जुड़े हुए है. नागपुर जहां उन्होंने बौद्ध धम्म की दीक्षा ली और मुंबई जहां बाबासाहब ने अपनी अंतिम सांस ली. आज के दिन मुंबई के चैत्यभूमि में मायें अपने छोटे बच्चों को गोद में उठाकर, जिन बुजुर्गो को चलना नहीं होता है, वे अपने बच्चों के कंधे पर हाथ रखकर, बुजुर्ग महिलाएं हाथ में लकड़ी के सहारे सभी बाबासाहेब के दर्शन करने मुंबई पहुंचते है.

Nation Next की तरफ से बाबासाहेब के परिनिर्वाण दिन पर उन्हें भावपूर्ण श्रद्धांजलि

Script by – Shamanand Tayde

Also Watch: VIDEO: Rahul Gandhi blows kisses at BJP office during Bharat Jodo Yatra

Continue Reading

Politics

VIDEO: Rahul Gandhi blows kisses at BJP office during Bharat Jodo Yatra

Published

on

By

Avani Arya | Nagpur

Congress leader Rahul Gandhi on December 6 morning during Bharat Jodo Yatra made headlines when he gave flying kisses to people at the BJP Jhalawar office’s rooftop who wanted to catch a glimpse of the march. 

Bharat Jodo Yatra is passing through Rajasthan now, it resumed from Khel Sankul and crossed Jhalawar city in the morning.

Just a day ago, Rahul Gandhi targeted opposition BJP and RSS, asking why they were not chanting ‘Jai Siyaram’ and ‘Hey Ram’.

Rajasthan CM Ashok Gehlot, Former Deputy CM Sachin Pilot, Pradesh Congress Committee Chief Govind Singh Dotasra, and several MLAs are accompanying Gandhi on the yatra.

Also Read: ‘Maharashtra government responsive towards issues of traders,’ assures Eknath Shinde

Continue Reading
Advertisement
0
Would love your thoughts, please comment.x
()
x